Monday, 28 November 2016

कमोडिटी बाजार में आज क्या हो रणनीति

उत्पादन में कटौती को लेकर तेल उत्पादक देशों के बीच सहमति नहीं बनता देख कच्चा तेल फिर से दबाव में आ गया है। शुक्रवार करीब करीब 3 फीसदी की भारी गिरावट के बाद आज फिर इसमें दबाव बना हुआ है। दरअसल पिछले हफ्ते दोहा की बैठक में शामिल हाने से सऊदी अरब ने इनकार कर दिया था। साथ ही कहा है कि उत्पादन में कटौती के बगैर अगले साल मार्केट की स्थिति सुधर जाएगी। ऐसे में 30 नवंबर को विएना में होने वाली ओपेक की बैठक में उत्पादन कटौती पर फैसले को लेकर संदेह बढ़ गया है और इसीलिए क्रूड में गिरावट आई है। 

इस बीच डॉलर में आई नरमी से सोना फिर से उछल गया है और कॉमैक्स पर इसका दाम 1190 डॉलर के पार चला गया है। फिलहाल इसमें करीब 1 फीसदी की बढ़त पर कारोबार हो रहा है। जबकि चांदी में करीब डेढ़ परसेंट की तेजी आई है। हालांकि गोल्ड ईटीएफ की होल्डिंग में गिरावट जारी है। वहीं एलएमई पर जिंक का दाम पिछले 9 साल के ऊपरी स्तर पर चला गया है। वहीं लेड 5 साल के रिकॉर्ड स्तर पर कारोबार कर रहा है। दोनों में आज करीब 5-6 फीसदी ऊपर कारोबार हो रहा है। जबकि कॉपर भी करीब 1.5 फीसदी ऊपर है। आज डॉलर के मुकाबले रुपये में कमजोरी है।  

आज की कमोडिटी कॉल्स के लिए अभी क्लिक करे और पाए फ्री ट्रायल।
OR Missed Call @ 830-630-830-8

Saturday, 26 November 2016

Commodity Market News 26-Nov-2016

Cash Crunch Hits Gold Demand During Peak Wedding Season
Gave Corrupt No Time To Prepare, Says PM, Pitches For Digital Eco
Click Here:
For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
Mumbai resident Shashikant Zhalte's wedding this weekend will be less sparkling than his family had hoped, thanks to a cash shortage following Indian Prime Minister Narendra Modi's shock withdrawal of high-value notes to fight "black money".  
Zhalte bought gold jewellery for his wife-to-be months ago, but had delayed purchases for his mother and sisters.  
Then came the Modi bombshell on November 8, in the middle of the wedding season when gold demand spikes, forcing Zhalte to drop his plans to buy an additional 50 gms, worth around $2,200.
The scenario is being played out across India, the world's second biggest consumer of gold, where it is customary to gift jewellery in marriages.  
The wedding season stretches from September to April, and Thomson Reuters-owned metals consultancy GFMS says it accounts for more than half of the country's annual demand for gold.  
More than two-thirds of that demand of around 800 tonnes a year comes from the countryside, where farmers are struggling to get enough cash to buy seeds and fertilisers in the sowing season. Penetration of credit or debit cards and money apps is very low in rural India.

Friday, 25 November 2016

Commodity Market Updates -- सोने में आगे भी जारी रहेगी गिरावट, 28 हजार के नीचे आ सकते हैं भाव

डॉलर में मजबूती और फेड द्वारा दिसबंर में ब्याज दरें बढ़ाने के संकेत के चलते ग्लोबल मार्केट में सोना 9 महीने के निचले स्तर पर आ गया है। वहीं घरेलू मार्केट में भी सोने में गिरावट बनी हुई है और सोना 28,700 प्रति दस ग्राम पर आ गया है। निवेश के लिहाज से सेफ हेवन माना जाना वाला सोना अब निवेशकों की पहली पसंद नही रहा है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक सोने में यह गिरावट आगे भी जारी रहेगी और अगले 15 दिनों में घरेलू मार्केट में कीमतें 28 हजार के नीचे आ सकती हैं। 
Gave Corrupt No Time To Prepare, Says PM, Pitches For Digital Eco
Click Here:
For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
घरेलू मार्केट में इन वजहों से है गिरावट  
नोटबंदी का असर - भारत में सरकार के 500 और 1000 के नोट बैन करने का असर ज्वैलर्स के बिजनेस पर पड़ा है। केडिया कमोडिटी के मैनेजिंग डायरेक्टर अजय केडिया के मुताबिक घरेलू मार्केट में सोने की कीमतें बहुत हद तक ग्लोबल सेंटीमेंट्स पर टिका होता है। अगर ग्लोबल मार्केट का सेंटीमेंट ऐसा ही बना रहा तो देश में नोटबंदी का इंपैक्ट खत्म होने के बाद भी सोने की कीमतों में गिरावट जारी रहने वाली है। 
डॉलर में लगातार मजबूती – रुपए में लगातार गिरावट जारी है। एक डॉलर के मुकाबले रुपए की कीमत 69 प्रति डॉलर के रिकॉर्ड निचले स्तर के करीब आ चुका है,जबकि डॉलर 14 साल के उच्चतम स्तर पर जा पहुंचा है। इसका सीधा असर सोने की कीमतों पर देखा जा रहा है। बुलियन ज्वैलर्स एसोसिएशन के चिव योगेश सिंघल के मुताबिक ग्लोबल मार्केट में ट्रंप के चुनाव जीतने के बाद से डॉलर में लगातार तेजी बनी हुई है। सिंघल का कहना है कि सोने में आने वाले समय में गिरावट जारी रहने के संकेत है।  
सेफ हैवन निवेश नहीं रहा सोनाः सोना को हमेशा से निवेश के लिहाज से सेफ हेवन माना जाता रहा है। लेकिन सोने में गिरावट के संकेत के चलते सोना से पैसा निकाल कर इक्विटी और दूसरे जगहों पर लगा रहे हैं। इस कारण सोने में गिरावट का रुख बना हुआ है।  
SPDR होल्डिंग्स ने बेचा 16 टन सोना 
दुनिया के सबसे बड़े एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) SPDR होल्डिंग्स ने ओपन मार्केट में 16 टन सोना बेच दिया है। इसीलिए अब माना जा हा है कि सेफ इन्वेस्टमेंट डिमांड के चलते सोने में आई तेजी अब खत्म हो चुकी है। लिहाजा एक्सपर्ट्स का कहना है कि दिसंबर अंत तक सोने की कीमतें गिरकर 28 हजार रुपए प्रति दस ग्राम के नीचे आ सकती हैं।

Tuesday, 22 November 2016

Commodity Market Updates -- क्या गोल्ड को लेकर सरकार कड़े नियम जारी कर सकती है?

क्या गोल्ड को लेकर सरकार कड़े नियम जारी कर सकती है? ट्रेडर्स परेशान सराफा  
व्यापारियों के बीच यह शंका जोर पकड़ रही है कि पीएम नरेंद्र मोदी जल्द ही विदेशों से सोना खरीद को लेकर भी कुछ कड़े नियम जारी कर कर सकते हैं. इसी डर से कई भारतीय कारोबारी भारी मात्रा में सोना एकत्र करके रख रहे हैं और विदेशों से सोना मंगवाकर रख रहे हैं. दरअसल पीएम मोदी के काले धन पर लगाम के लिए 500 और 1000 रुपए के नोटों पर बैन के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि पीएम काले पैसे को खत्म करने के लिए अब गोल्ड को लेकर भी कुछ नियंत्रण लगा सकते हैं. यह कहना है करोबारियों और सुनारों का. 
काले धन पर कार्रवाई : 25 शहरों में 600 ज्‍वैलर्स से एक्‍साइज विभाग ने सोने की बिक्री का मांगा ब्‍यौरा
For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
भारत दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा सोने का खरीददार देश है. अनुमानत: इसकी सालाना मांग 1000 टन है जिसका एक-तिहाई ब्लैक मनी के जरिए चुकाया जाता है, यह वह ब्लैक मनी है जो नकद में है और किसी भी अकाउंट में दर्ज नहीं है. पीएम मोदी कह चुके हैं कि नोटबंदी के ऐलान के बाद अभी कुछ और कड़े फैसले लिए जाने हैं हालांकि उन्होंने ये कड़े नियम क्या होंगे, यह स्पष्ट नहीं किया.  

सोने की चमक घटी, लेकिन नहीं मिल रहे खरीदार और निवेशक गोल्ड 
ट्रेडिंग को 8 नवंबर के बाद से अब तक सोने के दाम में आई 7.33 पर्सेंट गिरावट का फायदा नहीं मिल पाया है। सोमवार को मुंबई में सोने का भाव 29,445 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा। नोटबंदी के चलते पिछले दो हफ्तों में सोने का बिजनेस 75 पर्सेंट तक घट गया है। ज्वैलर्स को अपने यहां इनकम टैक्स अफसरों के आ धमकने का डर सता रहा है। इससे भी मार्केट का मूड खराब चल रहा है।  
ट्रेडर्स और ज्वैलर्स बाजार में बनी अनिश्चतता खत्म करने के लिए फाइनेंस मिनिस्ट्री से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं। साथ ही वे सभी ज्वैलर्स को 500 और 1000 रुपये के पुराने करेंसी नोट में गोल्ड बेचने से परहेज करने की सलाह दे रहे हैं। वे उनसे यह भी कह रहे हैं कि अगर उनकी जानकारी में कहीं ऐसा होने की बात आती है तो वे उनके बारे में तुरंत अथॉरिटीज को बताएं। 
कोटक महिंद्रा बैंक में ग्लोबल ट्रांजैक्शंस और प्रेसियस मेटल्स के बिजनेस हेड शेखर भंडारी कहते हैं, 'अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने का भाव अगले कुछ हफ्तों में 14 दिसंबर को फेडरल ओपन मार्केट कमेटी की मीटिंग तक 1200 डॉलर प्रति औंस से नीचे $1175 -$1180 प्रति औंस तक आ सकता है।'

Monday, 21 November 2016

कमोडिटी बाजारः क्रूड में जोरदार तेजी, क्या करें

कच्चे तेल में जोरदार तेजी आई है। घरेलू बाजार में क्रूड का दाम करीब 2.5 फीसदी उछल गया है। एमसीएक्स पर कच्चा तेल 3215 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं नैचुरल गैस में भी करीब 3.5 फीसदी ऊपर कारोबार हो रहा है। एमसीएक्स पर नैचुरल गैस का भाव 200 रुपये के ऊपर पहुंच गया है। दरअसल ग्लोबल मार्केट में क्रूड में करीब 1 फीसदी की तेजी आई है और इसी का असर घरेलू कारोबार पर पड़ा है। 
इन 5 कारणों से इस हफ्ते भी मार्केट में जारी रह सकता है उतार-चढ़ाव, संभलकर करें निवेश
For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
वहीं बेस मेटल्स में कॉपर करीब 2 फीसदी उछल गया है। निकेल, जिंक और लेड में भी जोरदार बढ़त पर कारोबार हो रहा है। एमसीएक्स पर कॉपर 2.3 फीसदी की मजबूती के साथ 379.6 रुपये के ऊपर पहुंच गया है। निकेल 3 फीसदी बढ़कर 762.9 रुपये पर पहुंच गया है। एल्युमीनियम 1.2 फीसदी की बढ़त के साथ 116.7 रुपये पर कारोबार कर रहा है। लेड 2 फीसदी की तेजी के साथ 147.9 रुपये पर कारोबार कर रहा है। जिंक 1.8 फीसदी उछलकर 175.85 रुपये पर कारोबार कर रहा है। 

मेटल में आई तेजी से चांदी का दाम भी करीब 1 फीसदी उछल गया है। एमसीएक्स पर चांदी 0.8 फीसदी बढ़कर 40700 रुपये के आसपास नजर आ रही है। सोने में भी तेजी देखने को मिल रही है। एमसीएक्स पर सोना करीब 0.5 फीसदी की तेजी के साथ 29060 रुपये पर कारोबार कर रहा है। 

वहीं एग्री कमोडिटी में खाने के तेलों में करीब 0.5-1 फीसदी ऊपर कारोबार हो रहा है। सरसों और सोयाबीन भी करीब 1 फीसदी चढ़ गए हैं। ग्वार में भी बढ़त पर कारोबार हो रहा है। इस बीच नोटबंदी से कमोडिटी कारोबार पर बड़ा असर पड़ा है। मंडियों में कमोडिटी की आवक में भारी गिरावट आई है। कारोबार भी करीब 75 फीसदी तक कम हो गया है।

Friday, 18 November 2016

डॉलर में उछाल, कमोडिटी और करेंसी में भूचाल

डॉलर में आई उछाल से पूरे कमोडिटी और करेंसी मार्केट में भूचाल आ गया है। रुपया जहां 20 हफ्ते के निचले स्तर पर आ गया है। वहीं सोना 8 महीने का निचला स्तर छू चुका है। ट्रंप की जीत के बाद से सोने में करीब 10 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। घरेलू बाजार में सोना 29000 रुपये के नीचे आ गया है। चांदी भी दबाव मे हैं, एमसीएक्स पर चांदी 40500 रुपये के नीचे आ गई है
कमोडिटी बाजार में आज कहां लगाएं दांव
For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
वहीं दोहा में आज तेल उत्पादक देशों की बैठक है और इससे पहले क्रूड लुढ़क गया है। दरअसल मजबूत डॉलर से इस पर भी दबाव बढ़ा है। यही हालत बेस मेटल्स का है। कॉपर इस हफ्ते करीब 2 फीसदी गिर गया है। वहीं एग्री कमोडिटी में सोयाबीन और सरसों में बढ़त है, जबकि धनिया और मेंथा तेल में गिरावट का रुख है।  
फिलहाल एमसीएक्स पर सोना 0.7 फीसदी की गिरावट के साथ 28930 रुपये पर कारोबार कर रहा है। चांदी करीब 1 फीसदी टूटकर 40400 रुपये के आसपास नजर आ रही है। एमसीएक्स पर कच्चा तेल करीब 1.5 फीसदी फिसलकर 3120 रुपये पर आ गया है। नैचुरल गैस 0.25 फीसदी की बढ़त के साथ 185.4 रुपये पर कारोबार कर रहा है।  
एमसीएक्स पर कॉपर 0.8 फीसदी की कमजोरी के साथ 369.7 रुपये पर आ गया है। निकेल 0.3 फीसदी गिरकर 758 रुपये पर आ गया है। एल्युमीनियम 0.1 फीसदी की मामूली बढ़त के साथ 114.8 रुपये पर कारोबार कर रहा है। लेड 0.6 फीसदी लुढ़ककर 146 रुपये पर कारोबार कर रहा है। जिंक 0.4 फीसदी टूटकर 170.2 रुपये पर कारोबार कर रहा है।  
नोटबंदी से गेहूं की आवक करीब 50 फीसदी तक कम हो गई है। राजस्थान, मध्यप्रदेश और हरियाणा की मंडियों में किसान और छोटे कारोबारियों का माल आना करीब बंद हो गया है। ऐसे में गेहूं की कीमतों में भारी तेजी आई है। कल और आज में भाव करीब 150 रुपये उछल चुका है। कल एफसीआई के गेहूं के लिए 2380 रुपये के उंचे भाव पर बोलियां लगाई गईं।

Thursday, 17 November 2016

Commodity Market -- क्रूड फिसला, ब्रेंट क्रूड 46 डॉलर के आसपास

अंतर्राष्ट्रीय़ बाजार में क्रूड में दबाव देखने को मिल रहा है। ब्रेंट क्रूड 46 डॉलर प्रति बैरल के आस-पास आ गया है। वहीं अब उत्पादन कटौती पर ओपेक फैसले पर मुहर संभव दिख रही है। इस मामले में रूस ने सऊदी अरब से बातचीत के संकेत दिए हैं। बता दें कि 30 नवंबर को ओपेक की बैठक होने वाली है। इस बीच सोने में भी गिरावट जारी है। 
कमोडिटी बाजार: कच्चे तेल में गिरावट बढ़ी, क्या करें ?
For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
डॉलर 13.5 साल की ऊंचाई पर चला गया है। अमेरिका में अगले महीने ब्याज दरें बढ़ने की संभावना और ट्रंप सरकार की ओर से निवेश बढ़ाने की संभावना से डॉलर को सपोर्ट मिला है। ऐसे में डॉलर इंडेक्स 100 के पार चला गया है। हालांकि गौर करने वाली बात ये है कि डॉलर में उछाल के बावजूद रुपया खुद को संभालने में कामयाब हुआ है। वहीं कच्चे तेल की तेजी थम गई है। हालांकि क्रूड पर भंडार बढ़ने का भी असर है।

इस बीच डॉलर में मजबूती से सोने की चाल थम गई है और कॉमैक्स पर सोना तीन दिन से 1225 डॉलर के आसपास ही कारोबार कर रहा है जो पिछले करीब 5 महीने का निचला स्तर है। चांदी में भी दबाव है और ये 17 डॉलर के नीचे कारोबार कर रही है। वहीं लंदन मेटल एक्सचेंज पर कॉपर में भी लगातार तीसरे दिन गिरावट देखी जा रही है। इसका दाम 4420 डॉलर के नीचे आ गया है। दूसरे मेटल भी कमजोर हैं। आज अमेरिका में बेरोजगारी के साप्ताहिक आंकड़े और यूके में रिटेल सेल्स के आंकड़े जारी होंगे।

बेस मेटल्स की बात करें तो एमसीएक्स पर एल्युमीनियम 0.6 फीसदी की कमजोरी के साथ 115 रुपये के नीचे नजर आ रहा है। जबकि कॉपर 1.2 फीसदी टूटकर 365 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। वहीं लेड 1.5 फीसदी गिरकर 145 रुपये के आसपास दिख रहा है। जबकि निकेल 0.9 फीसदी घटकर 760 रुपये के करीब आ गया है। जबकि जिंक 1.3 फीसदी गिरकर 170 रुपये के नीचे चला गया है।

Wednesday, 16 November 2016

Commodity Updates - Oil Declines U.S. Inventories Rise

Oil declines after OPEC-inspired rally as U.S. inventories rise
एशिया में कच्चे तेल के दाम नीचे गरे
For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
Oil prices fell on Wednesday, returning some of the gains made in one of the year's biggest rallies a day earlier, after industry data showed U.S. crude stocks rose beyond expectations last week to add to an oversupplied market. Global benchmark Brent crude LCOc1 was down 39 cents at $46.56 a barrel at 0917 GMT. It closed Tuesday 5.7 percent higher on news that members of the Organization of the Petroleum Exporting Countries would renew efforts to limit production. U.S. crude CLc1 was 47 cents lower at $45.34 a barrel.

"Prices are down on the build in U.S. crude oil stocks reported by the API last night," said Tamas Varga, oil analyst at London brokerage PVM Oil Associates. Weekly U.S. crude oil stocks surged by 3.6 million barrels last week, the American Petroleum Institute (API) industry group said, exceeding analyst expectations of a 1.5-million-barrel rise. The news dampened a rally infused by news that OPEC members were meeting ahead of an official group gathering on Nov. 30 to build consensus for a deal to limit production, and by oil pipeline attacks by militants in Nigeria.

A number of energy ministers from OPEC countries are likely to meet informally in Doha on Friday to try to build consensus over decisions taken by the full group in September in Algiers, an Algerian energy source said. "We estimate the possibility of an actual OPEC production cut as 50-50," said Hans van Cleef, senior energy economist at ABN Amro. "If OPEC would stick to its intention to set its production ceiling at 32.5 million barrels a day, or even lower, market optimism will likely pick up, which could be supportive for oil prices." The Dutch bank lowered its oil price forecasts on Wednesday, expecting Brent and U.S. crude to average $50 a barrel in the fourth quarter.

Tuesday, 15 November 2016

Commodity Market -- Gold may Touch Rs 29,000

Gold may touch Rs 29,000 in next 1 month; here is why
Gold rebounds after sinking to near 6-month low
For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
Gold prices fell for the third consecutive day on Tuesday on rising fears that calendar year 2017 may see aggressive rate hikes by the US Federal Reserve as the US economy stabilises. Within a span of three sessions, the yellow metal had slipped 4 per cent from Rs 30,875 per 10 gm on November 9 to Rs 29,911 per 10 gm till November 11 after Republican nominee Donald Trump was elected the 45th President of the US.  

The development pushed the US dollar higher and resulted in soaring US Treasury bond yields. Trump's fiscal and trade policies are largely expected to stoke inflation and make it easy for the Fed to hike interest rate. Under the prevailing scenario, bullion experts see further weakness in gold prices at least over the next one month.  

At home, the government is keeping an eye of sales of the yellow metal that can be broken down into sub-Rs 2 lakh to avoid quoting of PAN. After the demonetisation of Rs 500 and Rs 1,000 currency notes, gold and bullion as a whole are said to have become the favoured route for laundering ill-gotten wealth.  

According to SMC Investments and Advisors, the bullion counter can continue to witness a lot of volatility as uncertainty over the Fed interest rate hike and movement of the greenback are expected to provide further direction to gold prices. Donald Trump winning the US presidential election spurred global stock markets and reduced safe haven buying of gold.

Monday, 14 November 2016

Commodity Updates -- Gold Future Slide to 5 Month low

Gold futures slide to more than 5-month low
Gold price could break below $1,200 on 'Trumpflation' fear
For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
Gold prices fell to a more than five-month low on Monday, extending four straight sessions of losses as market players continued to dump the yellow metal in wake of Donald Trump’s victory in the U.S. presidential election. Gold for December delivery on the Comex division of the New York Mercantile Exchange sank to an intraday low of $1,212.00 a troy ounce, a level not seen since June 3. It was last at $1,219.30 by 3:05AM ET (08:05GMT), down $4.55, or 0.38%. Gold plunged more than 3% on Friday amid optimism that increased fiscal spending and tax cuts under a Trump administration will spur economic growth and inflation, which would ultimately lead to an era of higher interest rates.  

Investors are currently pricing an 81.1% chance of a rate hike at the Fed's December 13-14 meeting, according to Investing.com's Fed Rate Monitor Tool. The precious metal is sensitive to moves in U.S. rates, which lift the opportunity cost of holding non-yielding assets such as bullion, while boosting the dollar in which it is priced. The U.S. dollar was last up more than 0.6% against a basket of major currencies at 99.60, after climbing to a nine-month high of 99.67 overnight. A stronger U.S. dollar usually weighs on gold, as it dampens the metal's appeal as an alternative asset and makes dollar-priced commodities more expensive for holders of other currencies.  

After a historic week in which U.S. politics dominated market sentiment, investors will get back to the business of watching the Fed and economic data as expectations mount for a December rate hike. Fed Chair Janet Yellen is due to testify on the economic outlook before the U.S. Congress Joint Economic Committee on Thursday, while retail sales and inflation data will also be in the spotlight. Also on the Comex, silver futures for December delivery shed 3.7 cents, or 0.21%, to $17.34 a troy ounce during morning hours in London.  

Elsewhere in metals trading, copper futures jumped 5.6 cents, or 2.23%, to $2.565 a pound, remaining within distance of last week's 17-month peak. Prices of the red metal rallied nearly 11% last week after Trump raised the prospect of increased infrastructure spending, while recent signs of strengthening demand in China have also underpinned prices. The metal is regarded as a leading indicator of the global economy. It is used in the construction of buildings, power generation and transmission and the manufacture of consumer electronics.

Thursday, 10 November 2016

Commodity Tips - Gold Jumps by Rs 172

Gold Jumps by Rs 172 on Positive Global Cues, Spot Demand
Gold trumps: Gold fin cos see silver lining

For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
Gold prices rose by Rs 172 to Rs 30,049 per 10 grams in futures trade on Thursday as speculators engaged in raising their bets amid a firm global trend and increased buying by jewellers at the domestic spot markets.

At the Multi Commodity Exchange (MCX), gold for delivery in December was trading higher by Rs 172 or 0.58% to Rs 30,049 per 10 grams in a business turnover of 93 lots.

The yellow metal for delivery in far-month February next year too gained Rs 159 or 0.53% to Rs 29,879 per 10 gm in 2 lots.

Market analysts attributed the rise in gold prices at futures trade to positive global cues as well as pick-up in demand at the domestic spot markets.

Yesterday, gold prices zoomed by Rs 900 to trade at three-year high of Rs 31,750 per 10 grams in the national capital.

Meanwhile, gold was trading higher 0.41% higher at $1,283.50 an ounce in Singapore.

Monday, 7 November 2016

Commodity Update -- Gold Below Rs 31K

Gold below Rs 31K, drops Rs 300 on weak global cues
Gold funds may offer 15 per cent returns
For details visit us @  
Give a Missed Call at "830-630-830-8"
After five sessions of gains, gold prices on Monday fell by Rs 300 per ten grams to crack below the 31,000-level and silver by Rs 450 to Rs 43,600 per kg at the bullion market on easing demand from jewellers coupled with weak global cues. Sentiment took a hit after gold tumbled overseas amid positive developments on the US election front, strengthening the dollar and diminishing appeal of the precious metal as a safe-haven, bullion traders said.  

The FBI has given a clean chit to Hillary Clinton, saying she should not face criminal charges after a review of new emails, an 11th-hour respite for the Democratic presidential candidate that could be a game changer in the tight race for the White House.  

Globally, gold fell 1.29 per cent to $1,287.20 an ounce and silver by 1.17 per cent to $18.19 an ounce in Singapore.  

Besides, fall in demand from jewellers and retailers at prevailing levels at domestic spot market fuelled the downtrend in the precious metals prices. In the national capital, gold of 99.9 per cent and 99.5 per cent purity slumped by Rs 300 each to Rs 30,850 and Rs 30,700 per 10 grams, respectively. The precious metal had gained Rs 500 in the previous five days.  

Sovereign also traded lower by Rs 100 to Rs 24,500 per piece of eight grams. Tracking gold, silver ready dropped by Rs 450 to Rs 43,600 per kg and weekly-based delivery by Rs 395 to Rs 43,000 per kg. Silver coins, however, held steady at Rs 76,000 for buying and Rs 77,000 for selling of 100 pieces.